Live from Ashram
Contact US

Our Aim

Our aim is to organize our scattered society through worship of one God, do not believe in casteism, we are the sons of Gods, write Devaputra with your name, serve the neglected unhappy sick elders, increase their vitality and enthusiasm, your Do not ignore the elderly, do not treat them like butchers. Whoever got the blessings of the elders in life, never bow down to anyone.

Do not drink alcohol, bidi do not drink, do not have any kind of intoxication, do not waste your life, your time and your money and dignity in fighting fights and lawsuits. Do not give the butchers to the animals, our youth become TV Reporters so that the right Media can be sold today to put the true picture in front of everyone in the country.

Do not torture your weak neighbor, do not torture your weak brother, weak wife, weak child, weak employee, do not persecute weak in-laws, be ready at all times to help the sick, weak and helpless. Do not put a picture of a ghost on the door of the house, write one name of yours truly.

Save your innocent daughters from love jihad, they do not get caught in the treacherous love trap of asuras and by marrying, those youths make a court case for half our property, our daughters should be saber to protect themselves, do not panic with terrorists from sinful misdeeds. Compete, they become Ranchandi in front of them.

If any crisis comes on our nation, be ready to sacrifice your money and life for it, fight against the enemies of the country, do not find a way to avoid or lurk, in front of the lion and the dreaded poisonous serpent. If you stand up to Sina Tan, you will kill him and fall, if you get nervous before fighting, then you will lose without fighting, there is no strength in the sinful souls, and hold on with you M is the force of conduct, God is your help, do not be afraid and go ahead and take forward the light of religion in the world. Worship God with the village, the village, the city, the mike, as the enemies do.

Organize your society, earn money with truth and honesty, make your house full of holy and high rites like Tapovan, bathe every day, worship God daily, meditate daily on the Gurubchans and the two verses of the Vedas. Read them, understand them. Take out a part of donation daily, plant it in the national interest, those who drink beedi should never donate. Otherwise the giver is also believed to be involved in their sins. Our youth and women should also become journalists so that they can extract the right information.

Killing girls in the womb is a sin. Do not do this, God is responsible for whatever organism comes into the world, not that humans do not increase their population or increase, otherwise the enemies of the country will snatch our country from us on the basis of population. He had done the same before also. Do not become weak among yourselves in the name of caste, stay together, stay organized. We must have 4 sons.

You must come to Gurudarbar on the first Sunday of every month. It will give you strength in peace and spirit, social interaction will increase and your spiritual progress as well as social progress, keep your weapons safe and your and others in times of crisis. protect the. Do not think that someone will come to save you by riding on a blue horse from the sky, be powerful, be rich, be a patriot, be brave, do not be a coward.

Every person of my nation should become an ascetic from the soul and a strong soldier from the body, become a crusader who can protect his religion to serve his nation. Stand firm on your true resolve and religion, be characterful, do not be weak in spirit, God is with us, His help is with us. We are the sons of Gods and God is the son of God. Ethics and the righteous are never defeated.

हमारे उद्देश्य

हमारा उददेश्य है एक ईश्वर की आराधना के जरिये अपने बिखरे समाज को संगठित करना जातपात को ना मानना, हम देवताओं के पुत्र हैं अपने नाम के साथ देवपुत्र लिखो उपेक्षित दुखी बीमार वृद्धों की सेवा करो, उनकी जीवन शक्ति और उत्साह को बढ़ाओ, अपने वृद्धों की उपेक्षा ना करो उनसे कसाई जैसा व्यवहार न करो। जीवन में जिसको मिला वृद्धों का आशीष, कभी किसी के सामने झुकाना उसका शीश।

शराब ना पियो, बीड़ी गिरेट ना पियो किसी तरह का नशा ना करो लड़ाई झगड़े और मुकदमों में पड़कर अपना जीवन अपना वक्त और अपना धन और इज्जत बरबाद ना करो.जानवरों को कसाई को ना दो, हमारे युवक टीवी रिपोटर बने जिससे सही और सच्ची तस्वीर देश की सबके सामने रख सकें आज मीडया बिक गया है।

अपने कमजोर पड़ौसी को ना सताओ, कमजोर भाई को ना सताओ, कमजोर पत्नी, कमजोर संतान, कमजोर कर्मचारी, कमजोर ससुराल वालों पे अत्याचार ना करो,बीमारों कमजोरों और लाचार व्यक्तियों की मदद करने के लिये हर वक्त तैयार रहो । घर के दरवाजे पर भूत का चित्र ना लगाओ एक तू सच्चा तेरा नाम सच्चा लिखो।

लव जिहाद से अपनी मासूम बेटियों को बचाओ वे असुरों के कपट प्रेम जाल में ना फंस जावें विवाह करके वे युवक हमारी आधी जायदाद के लिये कोर्ट केस करते हैं,हमारी बेटियां अपनी रक्षा के लिये कृपाण रखें पापी दुराचारियों से आतंकियों से घबरावें नहीं उनका मुकाबला करें, उनके सामने वे रणचण्डी बने ।।

हमारे राष्ट्र पर अगर कोई संकट आता है तो उसके लिये अपना धन और जीवन कुरबान करने के लिये तैयार रहो, देश के दुश्मनों से डटके मुकाबला करो, उनसे बचने या दुबकने का रास्ता ना खोजो, शेर के सामने और भयानक जहरीले नाग के सामने अगर तुम सीना तान के खड़े हो जाओगे तो तुम उसे मारकर गिरा दोगे, अगर लड़ने से पहले ही घबरा जाओगे तो बिना लड़े ही तुम हार जाओगे, पाप आत्माओं में कुछ बल नहीं होता, और तुम्हारे साथ धर्म आचरण का बल है, परमेश्वर तुम्हारा मददगार है, सो डरो नहीं और आगे बढ़ो तथा जगत में धर्म की रोशनी को आगे ले जाओ। गाँव गाँव शहर शहर माइक से परमेश्वर की आराधना करो जैसे अजाने होती हैं।

अपने समाज को संगठित करो, सच्चाई और ईमानदारी से धन कमाओ, अपने घर को तपोवन जैसा पवित्र और उच्च संस्कारों से परिपूर्ण बनाओ, रोज पहले स्नान करो, रोज परमेश्वर की आराधना करो, रोज गुरूबचनों का और वेद की दो ऋचाओं का ध्यान पूर्वक पाठ करो, उन्हें समझो. रोज दान का एक हिस्सा निकाल कर रखो, राष्ट्र हित में उसे लगाओ जो बीड़ी शराब पीते हों उन्हें कभी दान नहीं देना चाहिये. अन्यथा देने वाला भी उनके पाप करम में शामिल माना जाता है । हमारे नवयुवक व युवतियां पत्रकार भी बनें ताकि सही सूचना निकाल सकें।

गर्भ में ही कन्याओं की हत्या कराना पाप है. ऐसा ना करो, संसार में जो भी जीव आता है उसका इन्तजाम परमेश्वर करता है, ना कि मनुष्य अपनी जनसंख्या को घटाओ नहीं बढ़ओ, नहीं तो देश के दुश्मन जनसंख्या के आधार पर हमारे देश को हम से छीन लेंगे. उन्होंने पहले भी ऐसे ही किया था। जात पात के नाम पर आपस में कमजोर ना बनो, मिलकर रहो, संगठित होके रहो. हमारे 4 पुत्र अवश्य होने चाहिये।

महीने के पहले रविवार को आप गुरूदरबार में अवश्य आवें.उससे तुम्हें शान्ति व आत्मा में शक्ति प्राप्त होगी, मेलजोल बढ़ेगा और तुम्हारी आत्मिक उन्नति के साथ ही सामाजिक उन्नति भी होगी, अपनी रक्षा के अस्त्र शस्त्र रखें और संकट के समय अपनी और दूसरों की रक्षा करें. ये ना सोचें कि तुम्हें बचाने आसमान से नीले घोड़े पर सवार होके कोई आवेगा, सामर्थवान बनो, धनवान बनो, राष्ट्रभक्त बनो, बहादुर बनो, कायर डरपोक ना बनो।

मेरे राष्ट्र का हर एक व्यक्ति आत्मा से तपस्वी और शरीर से एक मजबूत सैनिक बने, धर्मयोद्धा बने जो अपने धर्म की अपने राष्ट्र की सेवा कर सके रक्षा कर सके। अपने सत संकल्प और धर्म पर अडिग रहो, चरित्रवान बनो आत्मा में कमजोर ना बनो, परमेश्वर हमारे साथ है उसकी मदद हमारे साथ है. हम देवताओं के और ईश्वर के पुत्र है देवपुत्र है. नीतिवान और धर्मात्मा कभी पराजित नहीं होते।